आईना बन जायेगा

तू अगर दिल की सुनेगा बावफ़ा बन जायेगा
आज के इस दौर में ये ही सज़ा बन जायेगा

इश्क़ के बारे में कुछ मत पूछ ये ही जान ले
इश्क़ जिस पत्थर को छू ले वो खुदा बन जायेगा

तोड़ने वाले मेरा दिल, सोच ले पहले जरा
दिल नहीं है कोई बूत जो दूसरा बन जायेगा

ग़म अगर मेरे बिखर जाने का तुझको है नदीश
मैं संवर जाऊंगा गर तू आईना बन जायेगा

चित्र साभार-गूगल

Comments

  1. ग़म अगर मेरे बिखर जाने का तुझको है नदीश
    मैं संवर जाऊंगा गर तू आईना बन जायेगा
    बहुत खूब......
    शानदार गजल

    ReplyDelete
  2. इश्क़ के बारे में कुछ मत पूछ ये ही जान ले
    इश्क़ जिस पत्थर को छू ले वो खुदा बन जायेगा

    बहुत खूब ... इश्क खुदा बन जाता है तो उसको पाने वाले अपने आप ही उसके करीब हो जाते हैं ...

    ReplyDelete

Post a Comment