Showing posts from January, 2018Show all
मेरे एहसास की तितली
कितना बवाल था
रिश्तों की ये पतंग
ख़ुश्बू आँखों में
कुछ नहीं
जलते शहर से