Showing posts with label राब्ता. Show all posts
Showing posts with label राब्ता. Show all posts

तुम न होगे तो

December 24, 2017
तुम न होगे तो यूँ भी क्या हो जाएगा कुछ नए ज़ख्मों से राब्ता हो जाएगा उसको भी तासीरे-उल्फ़त देगी बदल बेवफ़ा हो तो बावफ़ा हो ...Read More