Posts

दर्द का लम्हा

यादों की टिमटिम

मंज़र बहार के

ख़्वाबों को

काफ़िले दर्द के

दर्द का मौसम

मगर चाहता हूँ

गुलों की राह के

यादों में

तहखाने नींद के

मेरे एहसास की तितली

कितना बवाल था

ख़ुश्बू आँखों में

कुछ नहीं

जलते शहर से

सरापा दास्तां हूँ

चाँद खिल गया

क्या पता था

तेरी आँखों में

गाँव में यादों के