Posts

ख़्वाबों को

काफ़िले दर्द के

दर्द का मौसम

आँख में ठहरा हुआ

मगर चाहता हूँ

गुलों की राह के

दर्द से निस्बत

साथी